बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन, मुआवजा राशि, लाभार्थी सूची

Bihar Badh Rahat Sahayata 2022 | बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन | Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana Apply | बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना मुआवजा राशि

बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करने के लिए Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana शुरू की गई है। बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना के तहत बिहार सरकार द्वारा राज्य के बाढ़ से प्रभावित प्रत्येक परिवार को 6000 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। साथ ही जिन लोगों के घर, पशु, फसल को नुकसान पहुंचा है, उसकेअनुसार इस योजना के तहत उन लोगो को सरकार द्वारा अलग से धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी। आज हम यहाँ आपको अपने इस लेख के माध्यम से बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 से संबंधित सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, पात्रता, दस्तावेज आदि जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं, इसलिए Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022 के तहत आवेदन करने से पहले नीचे दी गयी जानकारी ध्यानपूर्वक पढ़े।
बाढ़ राहत

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा बाढ़ प्रभावित परिवारों को डीबीटी के माध्यम से सीधे उनके बैंक खाते में मुआवजा स्थानांतरित किया जाएगा। इस Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana के तहत बाढ़ से प्रभावित बेसहारा लोगों को सरकार की तरफ से उनके नुक्सान का थोड़ा मुआवजा दिया जाएगा। साथ ही पशु घर परिवार के किसी भी पशु को नुक्सान पहुंचा हो और जिनके पक्के और कच्चे घरों में जान-माल का नुकसान हुआ है, उन्हें उनके नुक्सान के आधार पर मुआवजा दिया जाएगा। बिहार राज्य के कुल 10 बाढ़ प्रभावित जिले हैं- पूर्वी और पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, खगड़िया ये ऐसे जिले हैं जहां बाढ़ का प्रकोप ज्यादा है| इस साल बिहार में आई बाढ़ ने करोड़ों लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित जगहों पर शरण लेने को मजबूर कर दिया है। बिहार में बाढ़ ने पिछले कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है, ऐसे में Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022 के माध्यम से प्रभावितों को लाभ पहुंचाने का काम किया जा रहा है।

Highlights of Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana

बिहार राज्य के लगभग 10 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं और उन्हें अपनी आजीविका में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। बिहार सरकार ने राज्य के लोगों की इस समस्या को देखते हुए बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना के तहत राज्य के बाढ़ प्रभावित परिवारों को 6000 रुपये की राशि प्रदान करने का निर्णय लिया है। सरकार की ओर से दिए जा रहे इस पैसे से आप अपना जीवन यापन कर सकेंगे। यदि आपका जानवर या आपके परिवार का कोई सदस्य या आपके घर में बाढ़ के कारण जान-माल का नुकसान होता है तो राज्य सरकार Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana के तहत इसके लिए अलग से राहत पैकेज देगी।
आपदा प्रबंधन विभाग का आदेश जारी

बिहार राज्य में बाढ़ ग्रस्त इलाके को बिहार सरकार द्वारा बाढ़ के कारण हुए नुकसान हेतु कुछ मुआवजा दिया जाएगा। सरकार द्वारा ₹6000 की राशि का मुआवजा तय किया गया है। इसके साथ ही बिहार के नागरिक पशु पक्षियों जैसे- गाय, बैल , मुर्गी आदि की हानि पहुंची है। उन सभी को भी अलग से तय किया गया मुआवज़ा दिया जायेगा।

Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana के तहत सहायता

केवल बिहार राज्य के बाढ़ प्रभावित परिवारों को ही बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 के तहत मुआवजा प्रदान किया जाएगा।
राज्य सरकार, Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022 के तहत राज्य के बाढ़ प्रभावित परिवारों को 6000 रुपये प्रदान करेगी।
बाढ़ के कारण जिन लोगों के घर, पशु, फसलें क्षतिग्रस्त हुई हैं और पक्के या कच्चे मकानों की जान-माल की हानि हुई है, उन्हें बिहार सरकार द्वारा Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana के तहत अलग से राशि दी जाएगी।
इस योजना के तहत उन लोगों की सूची तैयार की जाएगी जिन्हें सरकार मुहावजा मुहैया कराएगी।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो का विवरण

बिहार में फिलहाल 12 जिले बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 के तहत बाढ़ संभावित घोषित किए गए हैं, जिनकी पूरी जानकारी नीचे प्रदान की गयी है।
  • 10 जिले
  • 55 प्रखंड
  • 282 पंचायत
  • 636000 कुल आबादी प्रभावित
  • 1.50 लाख परिवार बाढ़ प्रभावित

बाढ़ राहत

बिहार बाढ़ राहत योजना के तहत किस स्थिति में कितना मिलेगा मुआवजा?

निम्नलिखित सूची में हमने आपको  बिहार सरकार द्वारा दिए जाने वाले मुआवजे के बारे में जानकारी दी है।

  • बाढ़ के प्रकोप से परिवारों को ₹6000 की राशि का मुआवजा देकर लाभ पहुंचाया जाएगा।
  • यदि  बिहार के नागरिक का के कपड़ों का नुकसान बाढ़ आने के कारण  हुआ है उसको  ₹1800 का मुआवजा देकर लाभ दिया जाएगा।
  • बर्तन  की हानि होने पर ₹2000 की राशि दी जाएगी।
  • फसल की बर्बादी होने पर प्रति हेक्टेयर के हिसाब से पीड़ित परिवार को बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 के माध्यम से ₹6800प्रति हेक्टेयर की राशि दी जाएगी।
  • गाय तथा भैंसों के नुकसान होने पर प्रति गाय या पैर भैंस 30000 रुपए तथा घोड़े का नुकसान होने पर 25000 रुपए  तक की राशि दी जाएगी।
  • इसके साथ ही प्रति बकरी, सूअर, भेड़ आदि  की नुकसान होने पर ₹3000 की राशि दी जाएगी।
  • नागरिक के पक्के तथा कच्चे मकान नष्ट होने पर 95100 रुपए की राशि दी जाएगी।
  • यदि किसी भी व्यक्ति की 50 मुर्गी का नुकसान हुआ है तो उसको अधिकतम ₹5000 की राशि दी जाएगी।
  • कच्चे  मकान के आंशिक क्षति ग्रस्त होने पर 3200 रुपए की राशि दी जाएगी। तथा पक्के मकान के आंशिक क्षति ग्रस्त होने पर 5200 रुपए की राशि दी जाएगी।
  • पूरी झोपड़ी के नुकसान होने पर  ₹4100  की राशि दी जाएगी तथा जानवर के शेड का नुकसान होने पर ₹2100  की राशि दी जाएगी।

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 का लाभ कैसे प्राप्त करे?

उन सभी बाढ़ प्रभावित परिवारों को जो Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हें मुआवजा पाने के लिए किसी भी प्रकार के आवेदन की आवश्यकता नहीं है। बाढ़ राहत सहायता योजना के तहत बाढ़ प्रभावित लोगों की पहचान के लिए कैंप लगाकर काम किया जाएगा, जिसके बाद सत्यापन करके मुआवजे की राशि उपलब्ध कराई जाएगी। इस योजना के तहत शिविरों का आयोजन किया जाएगा जिसमें कर्मचारियों द्वारा सत्यापन के लिए नाम, बैंक खाते की जानकारी, परिवार के सदस्यों की संख्या और अन्य विवरण की जानकारी बाढ़ प्रभावितो से ली जाएगी। इसके बाद कर्मचारियों द्वारा आपका डाटा प्राधिकरण को भेजा जाएगा, जहां सत्यवान के बाद बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना के लाभार्थियों की सूची संबंधित विभागों को सौंपी जाएगी।

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2022 लाभार्थी सूची

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना के तहत सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में शिविर लगाए जाएंगे, जहां बाढ़ प्रभावित परिवारों की पूरी जानकारी ली जाएगी। सभी जानकारी प्राप्त कर बाढ़ प्रभावित परिवारों की सूची तैयार की जाएगी। जिन परिवारों के नाम इस सूची में आएगा, उन परिवारों को 6000 रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। मुआवज़े की राशि सरकार द्वारा डीबीटी के माध्यम से सीधे बैंक खाते में स्थानांतरित की जाएगी। इस लिस्ट के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों का नाम जोड़ा जाएगा।

 

Leave a Comment