BusinessIndia

लॉकडाउन में बुक कराया था फ्लाइट का टिकट तो पूरा पैसा होगा रिफंड, DGCA ने दी ये जानकारी

इस पर GoAir ने कहा कि ऐसे कम्पनियाँ बर्बाद हो जाएँगी

कोरोना महामारी के कारण सभी कंपनियों को काफी नुकसान और दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, इन कंपनियों में एयरलाइन्स कम्पनियाँ भी शामिल हैं | आपको बता दें, हाल ही में 24 सितम्बर को डायरेक्टरेट जनरल ऑफ़ सिविल एविएशन (DGCA) ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन में जो यात्रियों ने टिकट्स बुक किये थे और सफर नहीं किया, फ्लाइट टिकट कैंसिल कर दिए थे, ऐसे में सभी एयरलाइन कंपनियों को यात्रियों के फ्लाइट टिकट के पैसों को रिफंड करना होगा | इस निर्देश के तहत राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय दोनों ही फ्लाइट टिकट्स के पैसों को वापस किया जायेगा, लेकिन हाल ही में केंद्र सरकार ने एयरलाइन्स कंपनियों को कहा है कि अगर वो यात्रियों का पैसा वापस करने में देरी करती हैं तो उन्हें 0.5 परसेंट के ब्याज के साथ पैसे वापस करने होंगे |

ये भी पढ़ें- Smaaash Entertainment पर भी कोरोना की मार – आर्थिक मंदी के कारण कंपनी को बंद किया गया

बिना किसी कैंसिलेशन चार्ज के ही पूरा पैसा यात्रियों को रिफंड किया जाये

आपको बता दें कुछ समय पहले ही सरकार ने सभी कंपनियों को निर्देश दिए थे कि वे बिना किसी कैंसिलेशन चार्ज के ही पूरा पैसा यात्रियों को रिफंड करें | इस के अनुसार उन यात्रियों का ही पैसा वापस किया जायेगा जिन लोगों ने 25 मार्च से लेकर 14 अप्रैल के बीच टिकट बुक किया था और जिनकी यात्रा की तारीख 15 मार्च से 3 मई के बीच थी | DGCA ने सभी एयरलाइंस कंपनियों को सरकार के इन नियमों का पालन करने को भी कहा था |

ये भी पढ़ें- डिजिटल पेमेंट से देश में बढ़ी है वित्तीय धोखाधड़ी: अजीत डोभाल (National Security Advisor)

एयरलाइन्स कम्पनियाँ सरकार के इस फैसले से काफी परेशान

ऐसे स्थिति में सभी एयरलाइन्स कम्पनियाँ सरकार के इस फैसले से काफी परेशान हैं, क्योंकि उन्हें पहले ही बहुत घाटा हुआ है और सरकार के इस फैसले से उन्हें और अधिक झटका लगेगा | जिसके बाद कुछ एयरलाइन्स कंपनियां ने ब्याज के साथ पैसा वापस करने के फैसले को नजरअंदाज किया तो कुछ ने टिकट का पूरा पैसा रिफंड कर दिया | हाल ही में विस्तारा(Vistara)और एयर एशिया(Air Asia) जैसे बड़ी एयरलाइन्स कंपनियों ने अपने यात्रियों को उनके टिकट और रिफंड के बदले credit shell देना शुरू कर दिया था, जिसके तहत यात्रियों को एक तय समय के अंदर यात्रा करने की सुविधा दी जाती है |

ये भी पढ़ें- Paytm के संस्थापक Vijay Shekhar Sharma ने Google पर बिना नोटिस के Play Store से App हटाने पर लगाया आरोप!

गो एयर(GoAir) ने कहा कम्पनियाँ बर्बाद और कुछ पूरी तरह से बंद हो जाएँगी

कई लोगों ने इसका विरोध किया और कहा कि यात्री एक तय समय के अंदर क्रेडिट शेल (credit shell ) इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं, वे सिर्फ अपना पैसा वापस चाहते हैं | ऐसी स्थिति में फ्लाइट कैंसिल होने के बाद उन्हें पूरा रिफंड दिया जाना चाहिए | जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने एयरलाइन्स को यात्रियों को पूरा रिफंड देने को कहा न कि क्रेडिट शेल | DGCA ने भी एयरलाइन्स को फटकारते हुए कहा कि यात्रिओं को बिना उनकी मर्जी के क्रेडिट शेल देना गलत और नियमों के खिलाफ है, लेकिन बता दें कि हाल ही में गो एयर(GoAir) ने सरकार और सुप्रीम कोर्ट से विनती करते हुए कहा है कि अगर हालात ऐसे ही चलते रहे तो कई कम्पनियाँ बर्बाद और कुछ पूरी तरह से बंद हो जाएँगी | फ़िलहाल सुप्रीम कोर्ट द्वारा एयरलाइन्स के इस केस पर फैसला सुनना बाकी है.

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी