Coronavirus Updates
Trending

Coronavirus Update – कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, बीते 24 घंटे में 95,529 नए केस, 1,167 मौत

राजधानी दिल्ली में पहली बार एक दिन में 4039 कोरोना पॉजिटिव मामले

कुछ महीने पहले लगने लगा था कि कोरोना कि रफ़्तार शायद काम हो गयी और वैक्सीन के मामले में भी अच्छी खबरें सुनने को मिल रही थी लेकिन पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से कोरोना भारत में अपने पैर पसार रहा है उस से तो यही लग रहा है कि बस कुछ दिन में भारत में कोरोना प्रतिदिन आने वाले केस 1 लाख तक पहुंच जायेंगे. भारत कोरोना मामलों की वृद्धि में वैसे ही नंबर 2 के स्थान पर पहुंच गया है. पिछले 24 घंटो की बात की जाए तो 95529 सिर्फ कल के केस दर्ज़ किये गए हैं जिस से कोरोना के भारत में कुल मामले 4465863 हो गए हैं. अगर हम रिकवरी रेट की बात करें तो उसमें अच्छी खबर ये है कि रोज कोरोना से ठीक हो रहे मरीज़ों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी हो रही है. कल रिकवर हुए केस 73057 और वहीँ 1167 लोगो की मृत्यु हो गयी.

देश कि राजधानी दिल्ली में कोरोना का हाल

पुरे देश के साथ साथ दिल्ली में भी कोरोना के मामलें रोज लगातार बढ़ रहे हैं और इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना के कुल मामलों का आंकड़ा 2 लाख से पार हो गया है जिसमें कल 24 घंटे में 4039 केस बढे हैं जो कि दिल्ली का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है जिसमें अब तक कुल सक्रिय केस 23773 हो गए हैं, जिनमें 20 लोगों की मृत्यु हो गयी. इन सबके साथ ही दिल्ली में कोरोना संक्रमण कि दर 10 प्रतिशत के पार पहुंच गयी है.

ये भी पढ़ें- डॉक्टर की इज़ाज़त के बिना करवा सकेंगे कोरोना टेस्ट

इन बढ़ते कोरोना मामलों पर दिल्ली सरकार क्या नए कदम उठाने वाली है

जिस प्रकार से दिल्ली में कोरोना केस के मामलों में रोज बढोत्तरी हो रही है वो देखते हुए दिल्ली सरकार को इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है. आपकी जानकारी के लिए हम बता देते हैं वैसे पिछले कई दिनों से दिल्ली में कोरोना टेस्टिंग की दर को बढ़ाया गया है और ये भी एक बड़ा कारण हो सकता है दिल्ली में कोरोना मामले बढ़ने का क्यूंकि ज्यादा टेस्ट होने से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़ी है.

दिल्ली वाले अब बिना डॉक्टर के पर्चे के करा पाएंगे कोरोना का टेस्ट

दिल्ली में वैसे कोरोना टेस्टिंग के लिए हाई कोर्ट ने ये बड़ा फैसला किया था कि अब दिल्ली में रहने वाले लोग अपना कोरोना टेस्ट बिना किसी डॉक्टर की अनुमति के करा पाएंगे जिसमे उनको सिर्फ आधार कार्ड दिखाना होगा. ये ऐसा किया गया है क्योंकि कई बार डॉक्टर टेस्ट करने के लिए पर्चे पर लिख कर नहीं देते हैं और इस कारण लोगों को टेस्ट कराने में परेशानी होती थी. इसलिए हाई कोर्ट का ये फैसला दिल्लीवासियों के लिए अच्छा साबित होगा ताकि उनको खुद में कोरोना के लक्षण महसूस होने पर डॉक्टर द्वारा लिख कर देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. हाई कोर्ट ने इस पर कहा था कि इसके लिए दिल्ली के लोगों को ICMR फॉर्म भरना होगा

ये भी पढ़ें-

 

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी