Coronavirus Updates

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी – मशहूर मुरथल सुखदेव ढाबा के 65 कर्मचारी कोरोना से ग्रस्त पाए गए

कोरोना का कहर पूरे विश्व के साथ भारत में भी और ज्यादा बढ़ते जा रहा है, जहाँ ये उम्मीद की जा रही थी की अब मामलों में कमी आने से कोरोना की रफ़्तार में भी कमी आएगी, वहीँ बढ़ते मामलो को देखकर अब किसी भी तरह की उम्मीद लगाना बेमानी लग रहा है। पिछले 24 घंटों में भारत के कुल मामले 40 लाख का आंकड़ा पार चुके हैं, जो अब 4020239 हैं, जिसमे 4 सितम्बर को 87115 cases आये हैं. राजधानी दिल्ली में भी कोरोना फिर से अपने पैर पसारना शुरू दिया है. 1 सितम्बर से दिल्ली में हर दिन 2000 से ज्यादा मामले आ रहे हैं और पिछले 24 घंटे में यहाँ 2914 मामलों की वृद्धि हुई है। मामले फिर तेज़ी से दोगुना हुए जा रहे है। दिल्ली फिर भारत और दुनिया का सबसे प्रभावित शहर बन चुका है और यह अनुभव फिर से यह साबित कर रहा है कि किसी भी शहर या राज्य को इस बीमारी से मुक्त घोषित करना मूर्खता है।

अन्य राज्यों द्वारा दिल्ली मॉडल कि सराहना की जा रही थी

हाल ही में कुछ दिनों पहले स्वास्थ्य विभाग का यह कहना था कि मामले न केवल दिल्ली मॉडल को सफल बना रहे बल्कि दिल्ली वालो को रहत भी दे रहे है। बाद में दिल्ली सरकार ने ये भी दावा किया कि दुनिया भर के देश न सिर्फ दिल्ली के मॉडल की तारीफ़ कर रहे हे बल्कि इसको अपनाने की भी कोशिश कर रहे है। मगर कुछ ही दिनों बाद यह साबित हो गया की ऐसा दावा करना ज़ल्दबाज़ी था। हालाँकि दिल्ली में हर दिन दर्ज़ होने वाले मामलो में काफी गिरावट भी आयी थी पर इसको एक सफल मॉडल बोलना जल्दबाज़ी थी ।

यह भी पढ़ें – भारत में अनलॉक 4.० की प्रक्रिया शुरू, मेट्रो शुरू करने की मिली मंजूरी , स्कूल और कॉलेज अभी भी रहेंगे बंद

प्रसिद्ध मुरथल ढाबे के लगभग 70 कर्मचारी कोरोना से ग्रस्त पाए गए

दिल्ली में घटते मामलो को देखते हुए दिल्ली सरकार ने सभी रेस्तरआं और ढाबों को दुबारा खोलने की स्वीकृति दे दी थी जिस कारण अचानक से भारी मात्रा में लोगो का वहां आना जाना शुरू हो गया। इसी बीच दिल्ली से बड़ी खबर ये भी आ रही है की ढाबों पर भी कोरोना का असर तेज़ी से हो रहा है। हरियाणा के मशहूर जाने मने ढाबे मुरथल सुखदेव में 65 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए। पिछले हफ्ते के रेकार्ड के मुताबिक 10000 लोगों ने वहां खाना खाया था । सरकार के लिए ये बहुत ही मुश्किल काम है 10000 लोगो की टेस्टिंग करना।

ढाबे पर आने वाल कितने लोग हो सकते हैं कोरोना से संक्रमित?

अब देखना ये कि इस बीच में कितने लोग ढाबे पर खाना खाने खाये थे और उनमें से कितने लोगों में कोरोना के लक्षण पाए जाने की सम्भावना हो सकती है और ये एक बड़ी चुनौती है कि किस प्रकार इतने सारे लोगों कि टेस्टिंग कि जाएगी और अभी ये भी साफ़ नहीं है कि ढाबे पर आये हुए लोग और कितने लोगों से मिले होंगे.

यह भी पढ़ें – 67 दिनों के बाद दिल्ली में कोरोना मामलो की रफ़्तार फिर से बढ़ी

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी