Coronavirus Updates

Shocking Facts About Coronavirus – कोरोना को लेकर एक नया खुलासा, 28 दिनों तक सक्रिय रहता है वायरस

वायरस ठन्डे और और अँधेरे वातावरण में कांच, नोट तथा अन्य चिकनी सरफेस पर ज्यादा दिनों तक जिन्दा रह सकता है

कोरोना वायरस के बारे में अभी हमें बहुत कुछ जानना बाकी है| एक के बाद एक Shocking facts about Coronavirus सामने आ रहे हैं| ऑस्ट्रेलिया में किये गये एक शोध से पता चला है कि यह वायरस ठन्डे और और अँधेरे वातावरण में कांच,नोट तथा अन्य चिकनी सरफेस पर 28 दिनों तक सक्रिय रह सकता है| शोधकर्ताओं ने अलग-अलग तापमान पर इस विषय के ऊपर अध्धयन किया, जिससे यह बात सामने आयी कि यह वायरस तापमान बढ़ने के साथ -साथ कमज़ोर होने लगता है| यह शोध 7 अक्टूबर को वायरोलॉजी जर्नल में प्रकाशित किया गया था|

तापमान के बढ़ने से होता है कमज़ोर कोरोना वायरस

शोधकर्ताओं के के शोध के अनुसार यह वायरस 20 डिग्री सेल्सियस पर सबसे ज्यादा सक्रीय और खतरनाक रहता है और चिकनी सरफेस जैसे कि फ़ोन स्क्रीन,गिलास,स्टील,नोट,इत्यादि पर 28 दिनों तक एक्टिव रह सकता है| वहीं इन्फ्लुएंजा ए वायरस 17 दिनों के लिए सरफेस पर जीवित रह सकता है| जैसे-जैसे तापमान को बढ़ाया गया वायरस के जीवित रहने का दर घटता गया| 30 डिग्री सेल्सियस पर कोरोना वायरस केवल 7 दिनों तक एक्टिव रह सकता है और 40 डिग्री सेल्सियस पर एक्टिव रहने का दर 24 घंटे ही रह गया| शोध से यह भी पता चला है कि कोरोना वायरस को अल्ट्रावायलेट रे का भी काफी असर पड़ता है जिसके कारण वो नष्ट हो जाता है, इसलिए प्रयोग को बहुत ही नियंत्रित वातावरण में आयोजित किया गया था|

खुरदरी सतह के मुकाबले चिकनी सतह पर ज्यादा एक्टिव रहता है

इन Shocking Facts About Coronavirus से यह भी पता चला कि वायरस कॉटन जैसी जटिल सतहों की तुलना में चिकनी सतहों पर अधिक समय तक जीवित रहा, और प्लास्टिक नोटों की तुलना में कागज के नोटों पर लंबे समय तक जीवित रहा| साथ ही खुरदरी सतह पर कोरोना वायरस 14 दिनों तक एक्टिव रह सकता है लेकिन अगर तापमान बढ़ा दिया जाये तो वायरस के एक्टिव रहने का दर घट कर 16 घंटों तक आ जाता है| शोध के निष्कर्ष में कहा गया है कि SARS-CoV-2 कई दिनों तक एक्टिव रह सकता है,ऐसे में इसको नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है और तमाम परिणामों को उपयोग करते हुए वायरस के संक्रमण को रोकने का प्रयास किया जा सकता है|

संक्रमण को रोकने के लिए हाथ धोने की आदात डाले प्रमुख शोधकर्ता का दावा

आपको बता दें इससे पहले एक शोध में दावा किया गया था कि कोरोना वायरस चिकनी सतह पर तीन से सात दिनों तक जीवित रह सकता है, लेकिन हाल के इस शोध से यह बात साफ़ हो गयी है कि कोरोना वायरस कई दिनों तक चिकनी सतह पर एक्टिव रह सकता है| ऐसे में संक्रमण को रोकने के लिए शोधकर्ताओं के प्रमुख शेन रिडेल ने कहा कि जितना हो सके उतना हाथ धुलने या सैनेटाइज करने की आदत डाले और जहाँ कहीं भी बैठे उस जगह को भी धो ले या सैनेटाइज करके बैठे|

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button