DelhiDelhi/NCR

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे को लेकर बड़ी खबर आई सामने? दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे परियोजना के तहत दूसरे चरण में यूपी गेट से डासना तक का काम लगभग 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है।

दिल्ली मेरठ को लेकर बड़ी खबर आई सामने?

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे: यदि आप दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर यात्रा कर रहे हैं, जो कि राजधानी दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जीवन रेखा बनने जा रही है, तो सावधान रहें, क्योंकि थोड़ी सी चूक से यहां बड़ा हादसा हो सकता है। दरअसल, दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे को बिना किसी भी तैयारी के आम जनता के लिए खोल दिया गया है, ऐसे में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। खासकर यूपी गेट से विजय नगर तक बेतरतीब ढंग से वाहन चलाने वाले लोग.

आप भी सावधान हो जाइये?

बिना किसी पूर्व तैयारी के ही दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे को आम जनता के लिए खोल दिया गया है, मनाही होने पर भी यहाँ लोग आने जाने मे लगे है ऐसे में यहां पर कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। खासतौर से यूपी गेट से विजय नगर तक लोग वाहन बेतरतीब ढंग से दौड़ा रहे हैं।

मेरठ एक्सप्रेसवे यूपी गेट से विजय नगर दोनों तरफ से खुला

बताया जा रहा है कि मेरठ एक्सप्रेसवे यूपी गेट से विजय नगर तक दोनों तरफ से बिना किसी तैयारी के खोला गया है। जिसके कारण यहां सड़क दुर्घटना की आशंका गहरा गई है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि नियमानुसार, हल्के वाहनों को बीच सड़क पर वर्जित किया जाता है, इसके बावजूद कोई भी व्यक्ति यहां बिना रुके आ रहा है। ये एक बहुत बड़ी खबर है.
यहाँ कुछ वाहनों का जाना वर्जित है. क्योकि यहाँ बिना कुछ तैयारी के एक्सप्रेसवे यूपी गेट खोला गया

कुछ वाहनों वालो की एक्सप्रेसवे खुलते हे मनमानी देखने को मिली?

हर कोई ट्रक और कारों के बीच चल रहा है, ऑटो रिक्शा से लेकर भैंस-बुग्गी तक। यही नहीं, विजय नगर से यूपी गेट की ओर जाने वाले एक्सप्रेसवे पर हल्के वाहनों के साथ जुगाड़ वाहन भी चल रहे हैं। इसके साथ ही दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर कई वाहन विपरीत दिशा में भी चल रहे हैं। जाहिर है, ऐसी स्थिति में सड़क दुर्घटना की संभावना निरंतर बनी रहती है। ऐसी स्थिति मई लोगो को खुद अपना ख्याल रखना पड़ेगा. यहाँ अधिक वहां चलते है लेकिन ये रास्ता अब उतना सुरक्षित नहीं रहा क्योकि ये रास्ता कभी भी कोई भी दुर्घटना दे सकता है

ऑटो रिक्शा मुसीबत बन गई

एक्सप्रेसवे खुलते ही ऑटो चालकों की मनमानी देखने को मिल रही है। लापरवाही की समस्या यह है कि नोएडा के पास ऑटो रिक्शा विपरीत दिशा में सवारी लेकर चल रहे है जिसके वजह से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। ऑटो में बैठी सवारी के लिए भी ये बहुत रिस्की है. एक्सप्रेसवे पर अभी कोई काम भी काम सही से स्टार्ट नहीं हुआ है, जिससे कुछ लोगो को को इसका नुकसान झेलने को मिल सकता है.

बता दें कि पिछले महीने 24 अक्टूबर की रात को यूपी गेट से एबीईएस कॉलेज तक का एक्सप्रेसवे वाहनों के लिए खोल दिया गया है। इसके साथ ही दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे पर 3000 में से 1500 लाइटें भी लगी हैं। लेकिन अभी प्रॉपर तरीके से कोई तैयारी नहीं हुई है.

गौरतलब है कि दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे परियोजना के तहत दूसरे चरण में यूपी गेट से डासना तक का काम लगभग 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है।

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी