Delhi/NCR

Corona vaccination will start from 6 health centers in the district, 18 thousand doses will be available in the first phase | कोरोना वैक्सीनेशन की शुरूआत जिले में 6 स्वास्थ्य केंद्रों से होगी, पहले चरण में मिलेंगी 18 हजार डोज

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फरीदाबाद14 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • एएनएम और आशा वर्कर के जिम्मे होगा टीकाकरण, शुरूआत में हेल्थ वर्करों को लगेगा टीका

कोरोना वैक्सीनेशन की स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है। 16 जनवरी से प्रस्तावित वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरूआत जिले के छह स्वास्थ्य केंद्रों से होगी। इसके लिए विभाग ने स्वास्थ्य केंद्रों की सूची बनाकर स्वास्थ्य निदेशालय को भेज दी है। माना जा रहा है पहले चरण में फरीदाबाद को 18000 वैक्सीन की डोज मिलेगी।

क्योंकि पहले चरण में जिलेभर के कुल 18000 स्वास्थ्यकर्मियों का ही टीकाकरण होना है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि वैक्सीन के तापमान को बनाए रखा जा सके। इस पूरे टीकाकरण अभियान में एएनएम और आशा वर्करों की मुख्य भूमिका होगी। यानी डॉक्टर की मौजूदगी में एएनएम अथवा आशा वर्कर ही टीकाकरण करेंगी।

हर टीकाकरण सेंटर पर पांच सदस्यों की टीम होगी। टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए सेंटरों पर पुलिस की भी मौजूदगी रहेगी। जहां हुई रिहर्सल वहीं से होगी शुरूआत सीएमओ डॉ. रणदीप सिंह पूनिया ने बताया कि 16 जनवरी से प्रस्तावित टीकाकरण अभियान के लिए तैयारी पूरी है। इसके लिए अलग-अलग टीमें तैयार कर उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है। अब केवल वैक्सीन के आने का इंतजार है।

उन्होंने बताया पिछले दिनों सेक्टर तीन बल्लभगढ़ स्थित फर्स्ट रेफरल यूनिट, सेक्टर-30 स्थित फर्स्ट रेफरल यूनिट, एनआईटी स्थित ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खेड़ीकलां, कौराली और तिगांव में वैक्सीनेशन का रिहर्सल किया गया था। अब इन्हीं छह सेंटरों पर टीकाकरण की शुरूआत भी होगी। इसकी सूची स्वास्थ्य निदेशालय को भेज दी गई है।

वैक्सीन राज्य सरकार के जोनल वेयरहाउस गुड़गांव से आएगी

सीएमओ ने बताया चूंकि पहले चरण में जिलेभर के 18000 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होना है। ऐसे में शुरूआत में 18 हजार डोज ही मिलेगी। वैक्सीन राज्य सरकार के जोनल वेयरहाउस गुड़गांव से आएगी। उन्होंने बताया गुड़गांव से ही पलवल, नूंह और रेवाड़ी को भी सप्लाई होती है। उन्होंने बताया हेल्थ वर्करों में सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टर, नर्स, एएनएम, फार्मासिस्ट, नर्सिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, अल्ट्रासाउंड केंद्रों, लैब कर्मचारियों समेत हेल्थ से जुड़े सभी वर्करों का टीकाकरण होगा। इन सभी की सूची विभाग ने पहले से ही तैयार कर ली है।

9.50 लाख डोज रखने की है क्षमता: वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी एवं डिप्टी सीएमओ डॉ. रमेश चंद्र ने बताया कि विभाग के पास 125 डीप फ्रीजर उपलब्ध हैं। इसमें 9.50 लाख डोज रखने की क्षमता है। ये डीप फ्रीजर सरकारी और निजी अस्पतालों के पास उपलब्ध हैं। सरकार से मिलने वाली वैक्सीन डोज को इन्हीं डीप फ्रीजर में रखकर उनका तापमान मेनटेन किया जाएगा।

उन्होंने बताया टीकाकरण का काम एएनएम और आशावर्कर करेंगी। इस दौरान हर सेंटर पर एक डॉक्टर भी मौजूद होगा। उन्होंने बताया हर दिन टीकाकरण का 100 सेशन चलेगा। यानी रोज 100 हेल्थ वर्करों का टीकाकरण करने का टारगेट है। उन्होंने बताया छह सेंटरों पर टीकाकरण शुभारंभ होने के बाद बाकी सभी 45 स्वास्थ्य केंद्रों पर इसकी शुरूआत कर दी जाएगी।

डॉ. रमेश चंद्र ने बताया कि टीकाकरण उन्हीं का होगा जिनके नाम स्वास्थ्य विभाग के पास उपलब्ध हैं। यानी पहले, दूसरे और तीसरे चरण में जो अभियान चलेगा उसकी सूची स्वास्थ्य विभाग के पास पहले से ही मौजूद होगी। सेंटर पर मौजूद आईटी कर्मचारी अपनी सूची से संबंधित व्यक्ति के नाम का मिलान करेगा। इसके बाद उसके शरीर के तापमान को चेक कर टीकाकरण किया जाएगा।


Source link

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी