Delhi/NCR

Delhi air pollution: शिकायतों पर ऐक्शन नाकाफी, कैसे कम होगा प्रदूषण? – how low air pollution action on complaints is inadequate

नई दिल्ली
राजधानी में गंभीर प्रदूषण के बीच हमारी तकलीफ बढ़ा देने वाली एक रिपोर्ट सामने आई है। इसमें पता चला है कि प्रदूषण को बढ़ाने में हमारी सिविक एजेंसियों का योगदान भी कम नहीं है। सेंट्रल पलूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) की रिपोर्ट के मुताबिक, इसने दिल्ली में प्रदूषण की 242 शिकायतों पर ऐक्शन लेने के लिए इन एजेंसियों को कहा, लेकिन 40% से भी कम शिकायतों पर कार्रवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट की पहल पर शुरू की गई सोशल मीडिया हेल्पलाइन का भी यही हाल है। उसमें कुल मिलाकर 3,116 शिकायतें आईं, लेकिन निपटारा तकरीबन आधी शिकायतों का ही हुआ।

CPCB की टीमें रोज घूम-घूमकर संबंधित विभागों को खुले में कूड़ा फेंकने, कंस्ट्रक्शन और अवैध कब्जों के मलबे जैसी शिकायतें संबंधित विभागों जैसे एमसीडी, डीडीए, पीडब्ल्यूडी और ट्रैफिक पुलिस से कर रही है। लेकिन ऐक्शन में तेजी नहीं दिख रही। ये स्थानीय समस्याएं भी आबोहवा प्रदूषित करने में बड़ा योगदान दे रही हैं। सबसे ज्यादा शिकायतें एमसीडी से जुड़ी हैं, लेकिन उसका कहना है कि हमें ऐसी शिकायतें भी मिल रही हैं, जिन पर ऐक्शन अन्य एजेंसियों को लेना है।

ट्विटर, फेसबुक, ईमेल और समीर ऐप जैसे सोशल मीडिया अकाउंटों में सड़क पर धूल उड़ने, औद्योगिक कचरे, ट्रैफिक जाम, ओपन बर्निंग की शिकायतें आती हैं। ज्यादतर शिकायतें आउटर दिल्ली, द्वारका, ईस्ट दिल्ली और एनसीआर से आ रही हैं।

कल हो सकती है बारिश, दिला सकती है राहत
रविवार को दिल्ली की हवा बेहद गंभीर बनी रही। सोमवार को कुछ राहत के आसार हैं। लेकिन मंगलवार और बुधवार को हल्की बारिश की संभावना है। माना जा रहा है कि दिवाली का प्रदूषण इसमें कम हो जाएगा। आंखों और सीने की जलन, सिरदर्द जैसी इन दिनों हो रही परेशानियां कुछ कम होंगी।

कितनी शिकायतें कितनी हल हुईं
ट्विटर- 303 68
फेसबुक- 44 19
ईमेल- 197 86
समीर ऐप- 2572 1620
कुल-3116 1779


Source link

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी