Delhi/NCR
Trending

Delhi NCR News: गुरुग्राम में गांधी जयंती के अवसर पर 10 KM साइकिल ट्रैक का उद्घाटन

GMDA के कर्मचारी रोजाना इस ट्रैक का इस्तेमाल करते है

गाँधी जयंती के अवसर पर एक साइकिलिंग ट्रैक का उद्घाटन हुआ और ये ट्रैक हुडा सिटी सेंटर से होते हुए सुभाष चौक तक जाएगा तथा उधर से वापसी के लिए भी ट्रैक बन कर तैयार है| आपको बता दें की यह पहली बार नहीं है जब एक साइकिल ट्रैक बनाया गया है, जिसपे सिर्फ साइकिल के आवागमन के अलावा किसी और मोटर व्हीकल की जाने की अनुमति नहीं है, लेकिन नोएडा जैसी जगहों पर ऎसे ट्रैक मोटर साइकिल और स्कूटर चालकों द्वारा प्रयोग किया जाते है|

अब देखने वाली बात यह होगी की यह 10 किलोमीटर का साइकिल ट्रैक अपनी भूमिका निभाने में सफल रहता है या फिर यह भी मोटर साइकिल और स्कूटर चालकों के लिए समर्पित रोड बन कर रह जाता है|

ज़्यादातर साइकिल ट्रैक गाड़ियों को पार्क करने के स्थान के रूप में प्रयोग किये जाते हैं

शहर के ज़्यादातर साइकिल ट्रैक या तो गाड़ियों को पार्क करने के स्थान के रूप में प्रयोग किये जाते हैं या फिर इन पर वेंडर्स अपनी दुकान लगाए खड़े होते हैं| ऐसी हरकतों की वजह से साइकिलिस्ट को ये पता नहीं चल पाता कि वो जगह साइकिल ट्रैक है या फिर पार्किंग की जगह| अगर किन्ही वजहों से इन साइकिल ट्रैक पर पार्किंग और दुकान न भी रहें तो ट्रैफिक जब बहुत बढ़ जाता है तो इनका प्रयोग मोटर साइकिल और स्कूटर चलाने वाले लोगों द्वारा ही किया जाता है| साइकिल चलने वालों के लिए कोई खासा इंतज़ाम ना होने के कारण इस तरह की हरकते देखना आम बात है|

GMDA के चीफ VS Kundu ने खुद शुक्रवार को इस ट्रैक पर साइकिल चलाया

GMDA जो की इस ट्रैक का इंचार्ज होगी उसका कहना है की वह इस तरह के गतिविधिओ और लोगो द्वारा तोड़े जा रहे नियम से अवगत है| और वह इससे निपटने के लिए भी उपाय बना रखा है| Gurugram Metropolitan Development Authority के चीफ VS Kundu का मानना है की अगर उनके कर्मचारी रोज़ाना इन ट्रैक्स का इस्तेमाल करते हैं तथा साइकिल से ऑफिस आते और जाते हैं तो लोगों का ध्यान इस तरफ बढ़ेगा और लोग भी इस ट्रैक पर साइकिल चलाएंगे|

उन्होंने खुद शुक्रवार को इस ट्रैक पर साइकिल चलाया तथा अपने कर्मचारियों को भी निर्देश दिया की वो भी ऐसा ही करें और वो भी अक्टूबर के महीने तक ताकि लोगों में जागरूकता के साथ-साथ उत्साह भी बढे और लोग इस साइकिल ट्रैक का सही इस्तेमाल कर सकें|

गुरुग्राम उन 95 शहरों में से है जो cycle 4 change नामक कम्पटीशन में हिस्सा लिया है

पेडल यात्री नामक साइकिलिस्ट ग्रुप के एक मेंबर राजिव खन्ना का कहना है की जो लोग साइकिल नहीं चलते उनको साइकिल चलने के लिए उत्साहित करना बहुत ज़रूरी है तथा उनको इस बात का भी संज्ञान होना चाहिए की साइकिल ट्रैक साइकिल चलने वालों के लिए है तथा जो साइकिल से नहीं चल रहे हैं वो इस साइकिल ट्रैक पर मोटर साइकिल या स्कूटर से ना चलें|

आपको बता दें की गुरुग्राम उन 95 शहरों में से है जो cycle4change नामक कम्पटीशन में हिस्सा लिया है और जिस शहर में सबसे अच्छे साइकिल चलने के लिए इंफ्रास्ट्रक्टचर होंगे उन्हें साल में सम्मानित किया जाएगा|

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी