Coronavirus UpdatesEducationIndia
Trending

School Reopen: स्वास्थ्य मंत्रालय ने 21 सितम्बर से स्कूल और कॉलेज खोलने की अनुमति दी, केंद्र सरकार ने जारी की गाइडलाइन

केंद्र सरकार के अनलॉक 4.0 के तहत स्कूल और कॉलेज खोले जा सकेंगे

कोरोना वायरस महामारी के चलते स्कूल और कॉलेज काफी दिनों से बंद पड़े हैं, लेकिन ख़बरों की माने तो 21 सितम्बर से इनको खोलने के उपाय किये जा रहे हैं| केंद्र सरकार के अनलॉक 4.0 के तहत स्कूल और कॉलेज खोले जा सकेंगे| स्कूलों में कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों को जाने की अनुमति होगी तथा इनको अपने डाउट क्लियर करने के लिए ही जाना होगा. कोरोना के कारण स्कूल और कॉलेज का नार्मल क्लासेज चलाने का अभी कोई प्लान नहीं है| स्वास्थ्य मंत्रालय की माने तो अभी भी कोरोना के कहर की वजह से नार्मल क्लासेज चलाना मुमकिन नहीं है| 9 से 12 तक के विद्यार्थियों को स्वेच्छा से स्कूल में डाउट क्लियर करने के लिए जाने में कोई पाबंदी नहीं है लेकिन कुछ शर्ते हैं वो ये हैं कि कन्टेनमेंट जोन के स्कूल नहीं खोले जाएंगे तथा कन्टेनमेंट जोन से बच्चे पढ़ने नहीं जाएंगे|

फ़िलहाल के लिए नार्मल क्लास चलाना मुमकिन नहीं

आपको बता दें की कक्षा 9 से 12 के बच्चो में भी उन ही को जाने की अनुमति होगी जिनको ऑनलाइन पढाई से डाउट क्लियर करने में परेशानी हो रही है| फ़िलहाल के लिए नार्मल क्लास चलाना मुमकिन नहीं है इसलिए स्वस्थ्य मंत्रालय की माने तो केवल 50 फीसदी शिक्षकों को ही स्कूल जाने की अनुमति है तथा उन्ही बच्चों को स्कूल जाना है जिनको कोई डाउट क्लियर करना हो|

यह भी पढ़ें22 सितंबर से शुरू होगी सीबीएसई 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षा

कन्टेनमेंट जोन के स्कूल और कन्टेनमेंट जोन में रहने वाले बच्चे भी स्कूल नहीं जाएंगे

पिछले सप्ताह अरविन्द केजरीवाल की गवर्नमेंट ने घोषणा किया की स्कूल खुल सकते हैं तथा 9 से 12 तक के वही बच्चे स्कूल जाएंगे जिनको अपने किसी सब्जेक्ट में डाउट है| कन्टेनमेंट जोन के स्कूल नहीं खोले जाएंगे और कन्टेनमेंट जोन में रहने वाले बच्चे भी स्कूल नहीं जाएंगे| दिल्ली सरकार के अनुसार 9 से 12 तक के बच्चे जो स्कूल जाएंगे उनको अपने माता-पिता द्वारा मंजूरी लेनी होगी तथा आज्ञा पत्र लेकर ही वो स्कूल जा सकते हैं|

बच्चो को अपने माता-पिता के आज्ञानुसार ही स्कूल जाने की अनुमति है

बिहार सरकार की माने तो कन्टेनमेंट जोन के सारे स्कूल सितम्बर 30 तक बंद रहेंगे| और समय के अनुसार ही स्कूल खोले जा सकेंगे| आंध्र प्रदेश भी दिल्ली सरकार की ही तरह केवल 9 से 12 तक के बच्चो को अपने माता-पिता के आज्ञानुसार ही स्कूल जाने की अनुमति है तथा कन्टेनमेंट जोन के न स्कूल खुलेंगे और नहीं कन्टेनमेंट जोन के बच्चे स्कूल को जाएंगे|

मास्क, हैंड सैनिटाइज़र और सोशल डिस्टैन्सिंग अनिवार्य रहेगा

हरियाणा सरकार ने भी फैसला लिया है की कक्षा 10 से 12 तक स्कूल सिर्फ दो जगहों पर खोले जाएंगे- करनाल और सोनीपत में| यह फैसला हरियाणा सरकार ने ट्रायल करने की कोशिश करने के लिए लिया है| आपको बता दें की स्कूल में कुछ नियमों को मानना अनिवार्य होगा जैसे कि मास्क लगा के जाना, हैंड सैनिटाइज़र और सोशल डिस्टैन्सिंग भी अनिवार्य रहेगा| स्कूलों को भी अपने पास आवश्यक सामग्री जैसे की मास्क और सैनिटाइज़र की उपलब्धता बनाये रखना होगा|
जो स्कूल COVID सेंटर के रूप में बदले गए थें उनको पूरी सावधानी से स्कूल को sanitize करके ही खोलना होगा तथा जो Covid center नहीं रहे हैं उनको भी ज़रूरी सावधानी बरतनी पड़ेगी|

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी