India

Administration Bulldozer At Prashant Kishor’s House In Bihar ANN

पटना: कभी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी रहे जेडीयू के पूर्व उपाध्यक्ष और राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर से उनकी दूरियां क्या बढ़ी अब उनके मकान पर बुलडोजर चलने लगा. शुक्रवार को अहिरौली के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग-84 के किनारे बने उनके मकान पर जैसे ही प्रशासन का बुलडोजर चलना शुरू हुआ आसपास के लोग कौतूहल वश वहां जुट गए. बुलडोजर के द्वारा तकरीबन 10 मिनट के अंदर उनके मकान की बाउंड्री और दरवाजा भी उखाड़ दिया गया.

मजे की बात तो यह थी कि इसका किसी ने विरोध भी नहीं किया. हालांकि, इन सबका कोई राजनीतिक मतलब नहीं था. दरअसल, राष्ट्रीय राजमार्ग-84 के चौड़ीकरण के दौरान अधिग्रहित भूमि को खाली कराए जाने के लिए प्रशासन लगातार अभियान चला रहा है. इसी क्रम में पीके के पुश्तैनी मकान की बाउंड्री को तोड़ा गया. यह मकान उनके पिता स्वर्गीय डॉ. श्रीकांत पांडेय के द्वारा बनाया गया था. हालांकि, अब यहां प्रशांत किशोर नहीं रहते.

समूचा घटनाक्रम आज चर्चा का विषय रहा

प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक एनएच-84 के चौड़ीकरण के दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा अधिग्रहित की गई प्रशांत किशोर के पुश्तैनी मकान की इस भूमि का मुआवजा भी अब तक उन्होंने नहीं लिया है. बहरहाल समूचा घटनाक्रम आज चर्चा का विषय रहा.

बता दें कि बक्सर के मूल निवासी प्रशांत किशोर कई राजनेताओं को अपनी रणनीतिक सूझबूझ के दम पर मुख्यमंत्री तक बना चुके हैं. 2015 में जब उन्होंने नीतीश कुमार को चुनाव जीतने में मदद की थी उसी के परिणाम स्वरूप उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया. बाद में प्रशांत किशोर को कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया लेकिन, बाद में एनआरसी के मुद्दे पर उनकी दूरियां बढ़ गयी. इन दिनों वे बंगाल के चुनाव में ममता बनर्जी और तमिलनाडु के चुनाव में एआईएडीएमके के लिए काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें-

तेज प्रताप यादव का नया अवतार आया सामने, रैंपवॉक करते आए नजर


Source link

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी