India
Trending

Hathras Case: राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने लिया हिरासत में, धारा 144 के बाद पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे

UP Police ने उनको जाने से रोका और राहुल गाँधी को गिरफ्तार किया, लेकिन कुछ समय बाद में छोड़ दिया

हाथरस में हुए हादसे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष प्रियंका गाँधी वाड्रा और उनके भाई राहुल गाँधी पीड़िता के परिवार जनों से मिलने जाने वाले थे, लेकिन उससे पहले ही उस इलाके में धारा 144 लागू कर दी गयी और सभी का आवागमन बाधित कर दिया गया | यही नहीं मीडिया को भी पीड़िता के गाँव में जाने से रोक दिया गया |

यह भी पढ़ें – जिंदगी से जंग हार गई हाथरस की बेटी, दुष्कर्म पीड़ता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ा

पुलिस ने बताया की ऐसा इसलिए किया गया है ताकि जाँच पड़ताल में कोई बाधा न आये | बता दें हाथरस में हुई घटना के बाद प्रियंका गाँधी ने योगी सरकार की कड़ी निंदा की थी और कहा था कि योगी सरकार में लड़कियाँ सुरक्षित नहीं हैं, आगे उन्होंने कहा की हाथरस से पहले शाहजहाँपुर और गोरखपुर में हुए रेप के हादसे ने देश को पूरी तरह से शर्मसार कर दिया है |

राहुल गाँधी ने कहा कि आखिर वो परिवार से मिल क्यों नहीं सकते

आपको बता दें हाल ही में प्रियंका गाँधी ने पीड़िता के परिवार जनों को मिलने का आश्वाशन दिया था | वो अपने भाई राहुल गाँधी के साथ दिल्ली से निकल भी चुकी थी लेकिन ग्रेटर नॉएडा बॉर्डर पर ही उनके काफिले को रोक पुलिस ने रोक दिया , जिसके बाद कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सीमा पर प्रदर्शन किया, राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी ने पैदल ही जाने का फैसला किया , लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे जाने से रोक दिया और राहुल गाँधी को लाठी से धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया | आगे पुलिस ने सख्ती दिखते हुए राहुल गाँधी को धारा 188 के तहत गिरफ्तार कर लिया |

जिस पर राहुल गाँधी ने कहा कि आखिर वो परिवार से मिल क्यों नहीं सकते वे तो वहाँ कोई सभा करने नहीं जा रहे हैं बल्कि वो वहाँ अकेले ही जाना चाहते हैं |

प्रियंका गाँधी ने तो यह भी दावा किया कि योगी सरकार परिवार वालों को धमकी देकर दबाना चाह रही है

हाल ही में प्रियंका गाँधी ने अपने सोशल मीडिया से जानकारी दिया कि कैसे उन्हें पीड़िता के परिवार के पास जाने से रोक दिया गया और उनके कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज भी की गयी | साथ ही प्रियंका गाँधी ने अपने पोस्ट में फोटोज भी साझा किया था जिसमें कुछ लोग घायल दिखाई पड़ रहे हैं | जिसके बाद कई लोगों ने योगी सरकार की कड़ी निंदा की और कहा कि सरकार अनैतिक तरीकों का उपयोग कर रही है | प्रियंका गाँधी ने तो यह भी दावा किया की योगी सरकार परिवार वालों को धमकी देकर दबाना चाह रही है, जिससे मामला दब जाये |

फ़िलहाल राहुल गाँधी को पुलिस ने छोड़ दिया है जिसके बाद वो अपने बहन और कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली लौट आये हैं

इससे पहले जब पीड़िता की लाश को देर रात गाँव में परिवार जनों के मर्जी के बिना पुलिस द्वारा जला दिया गया तब राहुल गाँधी ने भी इसपर ट्वीट किया और कहा कि यह सब दलितों को दबाने और उन्हें समाज में अपना ‘स्थान’ दिखाने के लिए यूपी सरकार की शर्मनाक चाल है | बता दें अभी फ़िलहाल राहुल गाँधी को पुलिस ने छोड़ दिया है जिसके बाद वो अपने बहन और कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली लौट आये हैं | इस तरह से देखा जा सकता है कि UP पुलिस कैसे उन्हें रोकने में कामयाब रही |

यह भी पढ़ें – International Drugs Racket का सनसनीखेज खुलासा

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी