India

बौखलाए चीन की एक और शर्मनाक हरकत – पीएम मोदी सहित 10 हजार भारतीयों की जासूसी

सोशल मीडिया डाटा के ज़रिये 10 हज़ार भारतीयों की जासूसी कराई , कई राजनेता भी हुए इसके शिकार

China Monitoring India: जहाँ एक तरफ LAC पर भारत और चीन के बीच आयें-दिन विवाद होता रहता हैं, ऐसे में चीन की एक और धोकेबाजी सामने आयी है । सूत्रों से पता चला हैं कि चीन कुछ भारतीयों की जासूसी करा रहा है और इसमें चीनी सरकार और उसके कुछ बड़े सेन्य अधिकारी शामिल हो सकते हैं । बताया जा रहा हैं कि दुनिया में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए चीन ने ये शर्मनाक हरकत की हैं । भारत के साथ–साथ चीन ने कई और दुसरे देशों की भी जासूसी कराई है । ख़बरों की मानें तो चीन की कंपनी ने अभी तक सिर्फ सोशल मिडिया का डेटा ही उपयोग किया है और इस वजह से चीन के खिलाफ फिलहाल कोई कारवाई करना अभी संभव नही है ।

सूत्रों के हवाले से खबर आयी है कि चीन भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी , राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद के साथ कई केंद्रीय मंत्रियों और भारत के करीब 10 हजार लोगों की भी जासूसी करा रहा है।

कौन है जासूसी करने वाली चीन की कंपनी ?

चीन की कंपनी जो भारत की जासूसी कर रही थी, उसका नाम हैं ‘झेन्हुआ डाटा इन्फॉर्मेशन’(Xinhua Data Information) और ‘शेन्ज़ीन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी’ (Shenzhen Information Technology) । इस कंपनी ने करीब 10 हजार भारतीयों का डाटा चुरा कर इकट्ठा कर लिया है । इस कंपनी के पूरी दुनिया में करीब 20 डेटा सेंटर हैं और यह कंपनी सोशल मिडिया से डेटा लेती है । इस चीनी कंपनी ने जासूसी करके यह साबित कर दिया है कि इस काम के पीछे चीनी सरकार का ही हाथ है ।

सोशल मिडिया अकाउंट से चुराया व्यक्तिगत डाटा

चीन के जासूसों की नजर भारत के लोगों की व्यक्तिगत जानकारी पर थी । इसके साथ-साथ कमपनी ने उनके सोशल मीडिया अकाउंट से जुड़े दोस्तों के बारे में जानकारी, उनके पारिवारिक संबंधों की जानकारी, उनके अकाउंट पर किये गए कमेंट्स, लाइक्स और पोस्ट तक की भी जासूसी की है।

पढ़ें: PUBG सहित 118 चीनी ऍप्स पर भारत सरकार ने लगाया प्रतिबंध

राजनेता और कुछ नामी गिरामी लोग जो हुए जासूसी के शिकार

जिनकी जासूसी हुई है उनकी सूची इस प्रकार है :

1. प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी(PM Narendra Modi)
2. राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद(President Ram Nath Kovind)
3. जस्टिस ए.एम खानविलकर(Justice Ajay Manikrao Khanwilkar)
4. लोकपाल जस्टिस पी.सी घोष(Lokpal Chairperson Pinaki Chandra Ghose)
5. चीफ जस्टिस एस.ए बोबडे(Chief Justice Sharad Arvind Bobde)
6. सी.ए.जी.सी मुर्मू(C.A Girish Chandra Murmu)
7. ममता बनर्जी(Mamta Banerjee)
8. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी(Congress President Sonia Gandhi)
9. सी.डी.एस जनरल बिपिन रावत(Chief of Defence Staff General Bipin Rawat)
10. अशोक गहलोत(Ashok Gehlot)
11. नवीन पटनायक(Naveen Patnaik)
12. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह(Defence Minister Rajnath Singh)
13. रेल मंत्री पीयूष गोयल(Railway Minister Piyush Goyal)
14. कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी(Cabinet Minister Smriti Irani)
15. उद्दोगपति रतन टाटा और कई अन्य बड़े अधिकारी(Industrialist Ratan Tata)

चीन की जासूसी कराने की वजह

चीन द्वारा फैलाये गए कोरोना वायरस और बार बार समझाए जाने के बाद भी चीन सेना द्वारा भारतीय सीमा का उललंघन करने के कारण भारत सरकार ने ठोस कदम उठाते हुए इस साल 200 से अधिक चीनी मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया है और इसके साथ ही भारत सरकार में कई चीनी कंपनियों को भारत से अलग कर दिया है । ऐसे में चीन बौखलाया हुआ है और भारत की जासूसी करा रहा है ।

ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी