Coronavirus UpdatesDelhi
Trending

Coronavirus: त्योहारों और सर्दी के मौसम में कोरोना फिर कर सकता है वार, दिल्ली में वायरस की तीसरी लहर की आशंका

अगर लोगों ने सावधानी और सतर्कता नहीं बरती तो स्थिति और गंभीर हो सकती है

इस समय कोरोना ने देश को पूरी तरह से अपने चपेट में लिया हुआ है और लोगों में संक्रमण की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है | अगर रिपोर्ट्स की माने तो आने वाले समय में दिल्ली में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर देखी जा सकेगी और इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह त्यौहार और सर्दी हैं| आने वाले कुछ दिनों में ही दिवाली, दशहरा, छठ, और नवरात्रे जैसे त्यौहार के बीच में लोग सतर्कता नहीं बरतेंगे और उनकी इसी लापरवाही की वजह से संक्रमितों की संख्या में इज़ाफ़ा भी होगा| IMA के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. के के अग्रवाल ने ये बात बताई|

लोगों को और भी ज़्यादा जागरूक करने की जरुरत है

नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल का मानना है कि न सिर्फ दिल्ली में बल्कि सभी प्रदेशों को त्यौहार के समय सतर्कता बरतने की ज़रूरत है| उन्होंने आगे कहा कि अगर आने वाले समय में लोग सतर्क नहीं हुए तो किये कराये पर पानी फिर जाएगा| लोगों को और भी ज़्यादा जागरूक करने की जरुरत है तथा साथ ही साथ लोगों के अंदर कोरोना के डर को बरकरार रखने की ज़रूरत है ताकि लोग लापरवाही करने से बचें|

दिल्ली के अलावा केरल, पंजाब, तमिलनाडु और तेलंगाना में दूसरा पीक

हालांकि, इस समय दिल्ली में कोरोना का दुरसी लहर चल रहा है और 16 सितम्बर से लगातार मरीज़ों में बढ़ोत्तरी दर्ज़ की गयी है| इसके अलावां दिल्ली में 4500 मरीज़ों का एक दिन में मिलना दिल्ली के लिए रिकॉर्ड है| दिल्ली के अलावा केरल, पंजाब, तमिलनाडु और तेलंगाना ऐसे राज्य हैं जहां कोरोना का दूसरा पीक देखने को मिल रहा है। अगर कुछ राहत की बात है तो वो यह है की अभी कुछ दिनों से संक्रमण में गिरावट आयी है तथा लोगों ने जो सतर्कता बरती है उसका फ़ायदा हुआ है|

अगर बात हम मृत्यु दर की करें तो उसमे भी काफी बढ़त हुयी है| पिछले कुछ दिनों में रोज़ाना लगभग 30 लोग कोरोना की वजह से मर रहे हैं| इसमें 29 सितम्बर 48 लोगों की मौत शामिल है तथा सबसे काम पांच अक्टूबर को 32 मौत शामिल हैं|

अगर पिछले दो सप्ताह में मिलें मरीज़ों पर गौर किया जाए तो कोरोना का ग्राफ गिर रहा है- सत्येंद्र जैन

आपको बता दें कि दिल्ली के स्वस्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि भले ही कोरोना की दूसरी वेव चल रही हो लेकिन संक्रमण दर में कमी देखी गयी है| उन्होंने आगे बताया कि अगर पिछले दो सप्ताह में मिलें मरीज़ों पर गौर किया जाए तो कोरोना का ग्राफ गिर रहा है| आपको बता दें की स्वस्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि कोरोना के पहले वेव के समय भी ऐसे ही ग्राफ देखने को मिले थें|

ठीक होने वालों की संख्या पर कोरोना के पीक वेव का कोई असर नहीं

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के आकड़ों को देखा जाए तो कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या में निरंतर इज़ाफ़ा हुआ है| ठीक होने वालों की संख्या पर कोरोना के पीक वेव का कोई असर नहीं है| रिपोर्ट की माने तो दिल्ली में रिकवरी रेट लगातार बढ़ती चली जा रही है| 1756 मरीज़ों को 8 सितम्बर को डिस्चार्ज किया गया था तथा उसके बाद से ही रिकवरी रेट में लगातार उछाल देखने को मिला है|


यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button