India
Trending

Jaswant Singh Death : पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

भारत के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले सांसदों में से एक थे - 1980 और 2014 के बीच लगभग लगातार दोनों सदनों में से एक के सदस्य रहे है।

भूतपूर्व यूनियन कैबिनेट मिनिस्टर जसवंत सिंह का 82 वर्ष की उम्र में निधन हो गया । जसवंत सिंह का अपने घर के बाथरूम में पैर फिसलने से सिर में घातक इंजरी हो गयी थी जिसके बाद उनको नई दिल्ली के आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया ओर वो लम्बे समय तक कोमा में ही रहे । .

जसवंत सिंह का जीवन

बहुत ही कम लोग जानते है कि जसवंत सिंह  इंडियन आर्मी का हिस्सा रहे चुके है , जशवंत सिंह की राजनीति में शुरुआत 60 के दशक में हुई थी, उनका शुरुआती समय ज्यादा खास नहीं रहा । राजनीति में उनको पहली सफलता 1980 में मिली जब उनको संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा के लिए चुना गया । अटल बिहारी बाजपेयी की छोटे समय के लिए बनी सरकार में इनको वित्त मंत्री का पद मिला । उसके बाद अटल जी की 2 साल के लिए सरकार बनी जिसमे उनको पहले वर्ष विदेश मंत्री और दूसरे वर्ष फिर से वित्त मंत्री का पद मिला।

जसवंत सिंह उन सांसदों में से है जो लम्बे समय तक संसद का हिस्सा बने रहे वे 1980 और 2014 तक दोनों सदनों के सदस्य बने रहे । 2004 – 2009 तक जसवंत ने संसद में BJP के लिए विपक्ष नेता की भूमिका भी निभाई। जसवंत सिंह ने विदेश और वित्त मंत्रालय के अलावा रक्षा मंत्रालय भी संभाला था

ये भी पढ़ें-  मशहूर गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, 74 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

प्रधानमंत्री ने जसवंत सिंह के निधन पर शोक जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर शोक जताया है , उन्होंने ट्वीट किया की “जसवंत सिंह ने हमारे देश की सेवा की, पहले एक सैनिक के रूप में और बाद में राजनीति के साथ अपने लंबे जुड़ाव के दौरान।”

भारत के राष्ट्रपति ने भी जसवंत सिंह के निधन पर शोक प्रकट किया है उन्होंने ट्वीट के जरिये बताया की “वयोवृद्ध सैनिक, उत्कृष्ट सांसद, असाधारण नेता और बौद्धिक श्री जसवंत सिंह का निधन चिंताजनक है। उन्होंने कई कठिन भूमिकाओं को सहजता और समानता के साथ जोड़ा। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।”

राजनाथ सिंह और बड़े नेताओ ने भी उनके निधन पर शोक जताया है

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button