India
Trending

Rahul Gandhi Hathras March: पीड़िता के घरवालों से मिले राहुल-प्रियंका, कहा- अन्‍याय के खिलाफ लड़ेंगे

कांग्रेस अध्यक्ष प्रियंका गाँधी वाड्रा ने यूपी सरकार हाथरस के डीएम को ससपेंड करने की मांग की

हाथरास मामले के बाद कई दिनों के बाद आखिरकार शनिवार ( 3 अक्टूबर) को कांग्रेस पार्टी की नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा और भाई राहुल गाँधी पीड़िता के परिवार जनों से मिलने में सफल रहे| परिवार से मिलने के बाद उन्होंने परिवार से बातचीत करके उनका दर्द सुना और सांत्वना दी| राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी ने कहा कि चाहे जो हो वो इस मुसीबत के घड़ी में परिवार के साथ हैं, जो कुछ भी हुआ हैं उसको लेकर उन्हें इन्साफ जरूर मिलेगा|

परिवार वालों ने कहा कि इससे पहले जो लोग भी आये उन्होंने सिर्फ उनके बेटी के बारे में सवाल-जवाब किये और उनमें से किसी ने भी उनकी मदद की बात नहीं की| आगे पीड़िता के भाई ने बताया की राहुल और प्रियंका ने उन्हें आर्थिक सहायता के लिए चेक भी दिया और आश्वासन देते हुए कहा की अगर कोई मदद चाहिए हो तो जरूर बतायें |

यह भी पढ़ें – राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने लिया हिरासत में, धारा 144 के बाद पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे

इससे पहले पुलिस द्वारा ग्रेटर नॉएडा सीमा पर ही रोक दिया गया था

बता दें इससे पहले जब राहुल गाँधी आउटर प्रियंका गाँधी परिवार जनों से मिलने जाने वाले थे तो उन्हें पुलिस द्वारा ग्रेटर नॉएडा सीमा पर ही रोक दिया गया था| पुलिस से कार्यकर्ताओं के झड़प के बाद पुलिस ने राहुल गाँधी और प्रियांका गाँधी को हिरासत में ले लिया था| हालाँकि उन्हें बाद में छोड़ दिया गया और वे दिल्ली लौट आये|

घटना के बाद सभी का उत्तर प्रदेश सरकार पर गुस्सा फूटा प्रियंका गाँधी ने योगी शासन की कड़ी निंदा की और कहा कि उन्हें अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए नहीं तो वे इस्तीफा दे दें| यही नहीं राहुल गाँधी ने भी उत्तर प्रदेश पुलिस को पीड़िता के शव को बिना परिवार के इजाजत के ही अंतिम संस्कार करने पर उन पर कई सवाल उठाते हुए उनकी आलोचना की थी|

यह भी पढ़ें – जिंदगी से जंग हार गई हाथरस की बेटी, दुष्कर्म पीड़ता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ा

प्रियंका गाँधी वाड्रा ने परिवार के तरफ से सरकार से प्रश्न किया

हाल में परिवार जनों से मिलने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष प्रियंका गाँधी वाड्रा ने परिवार की तरफ से प्रश्न पूछते हुए ट्विटर पर एक ट्वीट किया है| उस ट्वीट में कई तरह के सवाल पूछे गए हैं, सवाल में पूछा गया है की आखिर मामले की जाँच न्यायिक तौर पर सीबीआई से क्यों नहीं करवाई जा रही है जबकि विशेष जाँच दल को इसमें लगा दिया गया|

प्रियंका ने कहा की यूपी सरकार हाथरस के डीएम को ससपेंड कर दे और आगे किसी बड़े पोस्ट पर लगाया जाये क्योंकि परिवार को सबसे ज्यादा परेशान उसने ही किया है| आपको बता दें हाल में एक वीडियो सामने आया था जिसमें जिला मजिस्ट्रेट को परिवार से यह कहते हुए साफ़ सुना जा सकता है कि मीडिया तो एक दो दिन में चली जाएगी लेकिन हम यही रहेंगे| अब यह तुम लोगों के ऊपर है कि अपना स्टेटमेंट बदलते हो या नहीं| इस वीडियो के बाद प्रियंका गाँधी ने सवाल उठाया कि आखिर उसके पीछे कौन है और क्यों उसे बचाया जा रहा है|

यह भी पढ़ें – AIIMS की फोरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार सुशांत सिंह राजपूत की मौत की वजह आत्महत्या थी

जवाब पाने का परिवार को पूरा अधिकार

उन्होंने यह भी पूछा कि आखिर क्यों बेटी के शव को बिना इजाजत जला दिया गया और परिवार कैसे विश्वास कर ले कि जिसे जलाया गया वो उनकी बेटी ही थी| यही नहीं कांग्रेस नेता ने यह भी पूछा कि अधिकारियों द्वारा परिवार को बार-बार धमकी क्यों दी जा रही है और उन्हें गुमराह क्यों किया जा रहा है|

प्रियंका गाँधी ने कहा की इन सवालों के जवाब पाने का परिवार को पूरा अधिकार है और यूपी सरकार को जवाब देना ही होगा, लेकिन बता दें राज्य सरकार ने हाल ही में कुछ अधिकारियों को ससपेंड किया था| हालांकि उसपर भी प्रियंका गाँधी ने कहा कि आखिर प्यादों को हटा देने से क्या होगा, सरकार को इस मामले के मुख्य अपराधियों को सजा देनी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसी घटनायें न हो|

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी