India
Trending

Indian Air Force Day 2020: भारतीय वायुसेना विश्व की चौथी सबसे ताकतवर वायुसेना है

ताक़त के मामले में भारतीय वायुसेना सिर्फ, अमेरिका, रूस, और चीन से पीछे है

आज भारतीय वायुसेना दिवस है, आज के ही दिन यानी 8 अक्टूबर 1932 में वायुसेना की स्थापना हुई थी| इसकी स्थापना के बाद से ही यह अपने पराक्रम और शौर्य के लिए जानी जाती है| अभी तक भारतीय वायुसेना ने चार बार पाकिस्तान और चीन को धूल चाटने में देश की मदद की है| हमारी भारतीय वायुसेना विश्व की चौथी सबसे ताकतवर वायुसेना है|

दूसरे विश्व युद्ध से लेकर यूनाइटेड नेशन के पीसकीपिंग मिशन तक, सबमे हमारी वायुसेना ने अपने शौर्य का परिचय दिया है| इस साल भारतीय वायुसेना अपनी 88th एनिवर्सरी मना रही है| आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना को पहले रॉयल भारतीय वायुसेना के नाम से जाना जाता था, ये तब की बात है जब हमारा देश इंग्लैंड के अधीन था|

1500 एयरक्राफ्ट और 170000 सैनिकों से सजी हुई है भारतीय वायुसेना

हालाँकि, 1950 में जब हमारा देश एक रिपब्लिक के रूप में स्थापित हुआ तब रॉयल भारतीय वायुसेना का नाम बदलकर भारतीय वायुसेना रख दिया गया| सन 1950 से अबतक भारतीय वायुसेना ने बहुत सी लड़ाईयां लड़ी हैं और इस वक़्त 1500 एयरक्राफ्ट और 170000 सैनिकों से सजी हुई भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है| ताक़त के मामले में भारतीय वायुसेना सिर्फ, अमेरिका, रूस, और चीन से पीछे है|

भारतीय वायुसेना में सुखोई, LCA तेजस, अपाचे हेलीकाप्टर, और C-130J यानी Super Hercules मौजूद

भारतीय वायुसेना हमारे भारत के आर्म विंग की एक हिस्सा है तथा भारतीय वायुमंडल के रक्षा का प्रभार संभालती है| भारतीय वायुसेना ने बहुत से ऑपरेशन्स में अहम् भूमिका निभाई है जैसे कि – Operation Meghdoot, Operation Cactus, Operation Vijay, और Operation Poomalai| अभी कुछ दिनों पहले ही

IAF ने राफेल विमान को शामिल करके भारत की सेना को मजबूती दी है| नए अधिग्रहित अपाचे और चिनूक जैसे विमान और C -130 J और C -17 बब्लास्टर्स जैसे विमान हमारे वायुसेना को गज़ब की ताक़त देते हैं| CH-47F (I) चिनूक, अपने ट्विन-रोटर्स के साथ, एक मल्टी-मिशन हेलीकॉप्टर है। इसको 25 मार्च 2019 में वायुसेना में शामिल किया गया था| एडवांस लाइट हेलीकाप्टर (ALH ) रूद्र एक स्वदेशी हेलीकॉप्टर है, जो मिशन किसी भी मिशन के लिए सक्षम है|

दूर-दराज के क्षेत्रों में भारी मशीनरी पहुंचाने में माहिर गजराज

IL -76 यानि ‘गजराज’ दूर-दराज के क्षेत्रों में भारी मशीनरी पहुंचा सकता है तथा टैंक और तोपखाने जैसे सैन्य उपकरण को ले जा सकता है और Humanitarian Assistance and Disaster Relief (HADR) जैसे अभियानों के लिए उपयोग किया जाता है।
इन सबके अलावां भारतीय वायुसेना सुखोई, LCA तेजस, अपाचे हेलीकाप्टर, और C-130J यानी Super Hercules से सजा हुआ है|

भारतीय वायुसेना से जुड़े कुछ अहम तथ्य इस प्रकार हैं:

1. भारत के राष्ट्रपति के पास भारतीय वायु सेना का सर्वोच्च कमांडर का पद होता है।

2. एयरफोर्स के मार्शल अर्जन सिंह, भारतीय वायु सेना के पहले और अब तक के फाइव स्टार रैंक के अधिकारी बने थें।

3. भारतीय वायु सेना के पास 1,39,576 सक्रिय और 1,40,000 रिज़र्व कर्मी हैं।

4. सुब्रतो मुखर्जी ने भारतीय वायु सेना के पहले भारतीय CAS के रूप में कार्य किया।

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी