India

Shiv Sena Defends For Not Giving Aircraft For Uttarakhand Trip To Governor Koshiyari | राज्यपाल को उत्तराखंड यात्रा के लिए विमान न देने पर शिवसेना का बचाव, कहा

मुंबई: महाराष्ट्र की उद्धव सरकार और राज्यपाल कोश्यारी के बीच विवाद बढ़ गया है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को उत्तराखंड यात्रा के लिए विमान न देने पर अब शिवसेना ने सामना के जरिए अपना बचाव किया है. सामना में कहा गया है कि निजी यात्रा के लिए सरकारी विमान सरकार क्यों दे. राज्यपाल ही क्या मुख्यमंत्री को भी निजी इस्तेमाल के लिए सरकारी विमान के अनुमति की इजाजत नहीं है.

शिवसेना ने पूछा- ऐसी हठधर्मिता की वजह क्या है?

शिवसेना के संपादकीय सामना में कहा गया, “राज्यपाल महोदय को सरकारी विमान उड़ाते हुए उनके अपने गृहराज्य अर्थात देहरादून जाना था. परंतु महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें विमान के इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी. राज्यपाल महोदय गुरुवार की सुबह विमान में जाकर बैठ गए. परंतु उड़ान की अनुमति नहीं होने के कारण उन्हें नीचे उतरना पड़ा. प्रवासी विमान से देहरादून आदि भागों में जाना पड़ा. अब इस पूरे प्रकरण को लेकर राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी उठापटक करते हुए सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश कर रही है.”

सामना में आगे लिखा गया, “राज्यपाल के कार्यालय ने विमान उड़ाने की अनुमति मांगी थी और एक दिन पहले ही सरकार द्वारा अनुमति न दिए जाने के बावजूद राजभवन ने राज्यपाल को विमान में ले जाकर बैठा दिया? ऐसी हठधर्मिता की वजह क्या है? राज्यपाल का यह दौरा निजी था इसलिए नियमत: सरकारी विमान का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है. ऐसा अवगत कराने के बाद भी राज्यपाल विमान में बैठ गए (राज्यपाल कहते हैं उनका दौरा निजी नहीं था). राज्यपाल ही क्या मुख्यमंत्री को भी निजी इस्तेमाल के लिए सरकारी विमान के अनुमति की इजाजत नहीं है.”

“राज्यपाल को राजनैतिक कठपुतली की तरह नचाना संविधान का अपमान”

शिवसेना ने राज्यपाल को राजनैतिक कठपुतली बताया है. लेख में कहा गया है कि राज्यपाल को बीजेपी के एजेंडे पर नाचने को मजबूर किया जाता है और इसमें राज्यपाल का ही अधोपतन हो रहा है. राज्यपाल को राजनैतिक कठपुतली की तरह कोई नचाता होगा तो यह संविधान का अपमान है. राज्यपाल को सरकार के एजेंडे के अनुसार चलना होता है, विपक्ष के नहीं.

सामना में आगे कहा गया, राज्यपाल के कंधे पर बंदूक रखकर केंद्र की आघाड़ी सरकार पर निशाना नहीं साधा जा सकता है. सरकार स्थित व मजबूत है और रहेगी. राज्यपाल का क्या करना है, यह भाजपा की समस्या है!

ये भी पढ़ें-
क्या इस वजह से महाराष्ट्र सरकार ने राज्यपाल कोश्यारी को सरकारी विमान में उड़ने से रोका?

महाराष्ट्र में राज्यपाल कोश्यारी और सीएम ठाकरे के बीच कड़वाहट, फिर चरम पर पहुंचा टकराव


Source link

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी