India

सुशांत सिंह केस – सीबीआई ने अपना पहला स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा, मीडिया द्वारा मनगढंत तथ्यों पर बुना गया केस

 

सुशांत सिंह राजपूत से जुड़ी ज़्यादातर खबरें मनगढंत तथा तथ्यों पर आधारित नहीं

सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर सीबीआई ने अपने पहले स्टेटमेंट में कहा कि ज़्यादातर न्यूज़ और इनफार्मेशन जो मीडिया द्वारा ज़ारी की जा रही है, वो सभी ऑफिशियली वेरिफाइड नहीं हैं| सेंट्रल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन (CBI) का कहना है कि मीडिया इस समय जो भी न्यूज़ लोगों तक पहुंचा रही है उनमें अधिकतर मनगढंत है और तथ्यों पर आधारित नहीं हैं.
जैसा कि आप सबको पता है, 14 जून 2020 को सुशांत सिंह राजपूत अपने कमरे में मृत पाए गए थें और महाराष्ट्र पुलिस ये दावा करने में जुटी थी कि यह एक सुसाइड है, लेकिन सुशांत सिंह राजपूत के घर वाले इस बात को मानने से साफ़ इंकार कर रहे थे इसीलिए उन्होंने इस केस के लिए सीबीआई जांच की मांग की|

सम्पर्कों से लगातार पूछ-ताछ कर रही है ED

सीबीआई तथा ED पिछले एक महीने से सुशांत सिंह राजपूत के सम्पर्कों से लगातार पूछ-ताछ कर रही है| इसमें सबसे ज़्यादा उभर कर जो नाम सामने आया है वो है रिया चक्रवर्ती का जो दिवंगत एक्टर की गर्लफ्रेंड थीं| पिछले एक महीनों से इनसे और इनके परिवार से लगातार पूछताछ चल रही है| सीबीआई के अनुसार सुशांत के संपर्क के लोगों के मैसेज, कॉल रिकार्ड्स तथा उनके संपर्कों की जांच की जा रही है|

एक-एक कर के सबूत इकट्ठा कर रही है CBI

इधर सुशांत सिंह राजपूत के पिता के.के. सिंह भी इस बात को मानने से इंकार कर रहें हैं कि उनका बेटा आत्महत्या कर सकता है, लेकिन सीबीआई किसी भी तरह के निष्कर्ष पर पहुंचने से मना कर रही है| CBI के एक spokesperson का कहना है कि जांच की जा रही है तथा एक-एक कर के इस केस से जुड़े सबूत इकट्ठा किये जा रहे हैं और जब उनके पास कोई पुख्ता सबूत आएगा, वे मीडिया के साथ साझा करेंगे|

यह भी पढ़ें –सुशांत सिंह राजपूत केस का ड्रग कनेक्शन – रिया चक्रवर्ती का भाई शोविक भी CBI के शक के घेरे में

सबूतों को तोड़-मोड़ के पेश न करे मीडिया- HC

आपको बताते चलें की इस समय ED, सुशांत के दोस्त तथा बिज़नेस पार्टनर वरुण माथुर से पूछ-ताछ कर रही है| और CBI लगातार सुशांत के गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार से पूछ-ताछ कर रही है, वहीँ हाई कोर्ट ने मीडिया से सबूतों को तोड़-मोड़ के पेश करने से मना किया है|

पेशेवर और क्रमबद्ध तरीके से हो रही जांच

सीबीआई ने भी किसी भी तरह के सबूत को सामने लाने से मना किया है और कहा है कि हम पेशेवर और क्रमबद्ध तरीके से केस की जांच कर रहे है तथा जो सबूत मिलेंगे और जो भी बयान होगा, वो सीधे कोर्ट के साथ साझा किया जाएगा और पूरी पारदर्शिता के साथ एक-एक तथ्य को उजागर किया जाएगा|

नारकोटिक्स कन्ट्रोल ब्यूरो ड्रग्स से जुड़े मामलो को देख रही है

सीबीआई की तरफ से आर के गौर ने कहा है कि CBI पॉलिसी की वजह से हम तहकीकात के बीच में कोई भी तथ्य या बयान उजागर नहीं कर सकते हैं तथा मीडिया को जो भी बातें पता चल रहीं हैं वो सीबीआई द्वारा प्रमाणित नहीं हैं|
सूत्रों की माने तो ED मनी लॉन्ड्रिंग के एंगल की जांच कर रही है तथा नारकोटिक्स कन्ट्रोल ब्यूरो ड्रग्स रिलेटेड मामलों के सबूत इकठ्ठा कर रही है|

यह भी पढ़ें – सुशांत सिंह राजपूत केस ने लिया एक नया मोड़

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी