Lifestyle
Trending

विटामिन D है जरूरी: जानिए विटामिन D कैसे कोरोना के खतरे को कम करता है

शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के साथ विटामिन डी लोगों में कोरोना से मौत के खतरे को भी 40 परसेंट तक कम कर देता है

कोरोना महामारी से इस समय लाखों लोग रोज मर रहे हैं और इस ही वजह से सभी लोग कोरोना वायरस की वैक्सीन का इंतज़ार कर रहे हैं, हालाँकि अभी भी ज्यादातर कोरोना वैक्सीन्स अपने ट्रायल फेज में ही हैं, ऐसे में कई वैज्ञानिकों द्वारा इस महामारी में सभी लोगों को स्वस्थ रहने की ही सलाह दी जा रही है, जिससे उनके शरीर की इम्युनिटी बनी रहे और वो कोरोना के खिलाफ लड़ सकें |

स्वस्थ रहने के लिए एक्ससरसाइज, योग के आलावा पौष्टिक आहार जिसमें सभी तरह के मिनरल्स मौजूद हो, वो हमारे शरीर के लिए काफी जरुरी है | कई साइंटिस्ट और डॉक्टर्स भी यही राय देते हैं कि कई मिनरल्स जैसे विटामिन सी, जिंक और विटामिन डी कोरोना के इस घडी में हम सभी के लिए काफी फायेदमंद हैं |

यह भी पढ़ें – कोरोना से ठीक होने के बाद भी बीमार क्यों पड़ रहे हैं लोग

जिन लोगों के अंदर विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में है, उन्हें कोरोना का कम खतरा

बता दें हाल ही में अमेरिका के बोस्टन यूनिवर्सिटी ने एक शोध से पता लगाया है कि जिन लोगों के अंदर विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में है, उन्हें कोरोना के कारण होने वाली दिक्कतों का कम खतरा रहता है | यही नहीं विटामिन डी लोगों में कोरोना से मौत के खतरे को 40 परसेंट तक कम कर देता है |

विटामिन डी शरीर की इम्युनिटी बढ़ाता है क्योंकि ये विटामिन वाइट ब्लड सेल्स की संख्या बढ़ाता है, जिसकी वजह से शरीर में एन्टीबॉडीस बनती हैं और वो किसी बाहरी वायरस या बैक्टीरिया से लड़ती हैं | यही नहीं यह शरीर में साइटोकाइन सेल्स को बढ़ने से रोकता है, बता दें यह सेल्स कोरोना से संक्रमित लोगों के फेफड़ों को नुकसान पहुँचाता है जिसकी वजह से मरीज की मौत हो जाती है |

यह भी पढ़ें – कोरोना से ठीक होने के बाद भी बीमार क्यों पड़ रहे हैं लोग

शोधकर्ताओं के मुताबिक़ विटामिन डी सांस से जुड़े इन्फेक्शन को कम करता है

अमेरिका के शोध के मुताबिक़ 42 परसेंट लोगों में विटामिन डी की कमी पायी गयी है, जिसमें से ज्यादातर लोग बुजुर्ग थे इसलिए बाकी लोगों के मुकाबले इन लोगों को कोरोना वायरस से ज्यादा खतरा बना हुआ रहता है | शोधकर्ताओं ने बताया कि जिन लोगों के अंदर विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में होता है वो लोग कम बीमार पड़ते हैं |

कोरोना काल में भी उन लोगों का गंभीर रूप से बीमार होने की सम्भावना भी कम होती है और बीमार पड़ने बाद भी इन लोगों को वेंटीलेटर की जरुरत बहुत कम पड़ती है , क्योंकि विटामिन डी सांस से जुड़े इन्फेक्शन को कम करता है इसलिए ज्यादातर लोग जिनके अंदर विटामिन डी प्रचुर मात्रा में होती है, वो लोग कोरोना से बच जाते हैं और उन्हें ज्यादा दिक्कतों का सामना भी नहीं करना पड़ता |

यह भी पढ़ें – जानिये शरीर के लिए क्‍यों जरूरी है विटामिन-सी, ये किस तरह से आपकी immunity को बढ़ाने का एक अच्छा स्रोत है

विटामिन डी का स्रोत और उसके लिए आहार

विटामिन डी का सब से अच्छा स्रोत सूर्य की रोशनी है | इसके लिए आपको दूर जाने की जरुरत भी नहीं है आपको बस सुबह के धुप में कम से कम 30 मिनट बिताना होगा, डॉक्टर्स भी विटामिन डी के लिए इसको सबसे आसान तरीका मानते हैं, लेकिन अगर आप को लगता है कि सिर्फ धूप ही एक मात्र विटामिन डी का स्रोत है तो आप गलत हैं |

शाकाहारी लोगों को यह विटामिन दूध, पालक, पनीर, सोयाबीन, टोफू, संतरा, दही, इत्यादि से मिल सकता है, वहीं मांसाहारी लोग बीफ लीवर,सामन,फोर्टिफाइड दूध,अंडे,इत्यादि से इसकी कमी को पूरी कर सकते हैं |


यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-


Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी