Sports
Trending

Yuvraj Singh घरेलु टी-20 क्रिकेट में जल्द कर सकते हैं वापसी

BCCI को पत्र लिखकर दोबारा खेलने के लिए मांगी अनुमति

क्रिकेट प्रेमियों के लिए एक चौंका देने वाली खुशखबरी है, वो ये कि पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन (PCA) की मानें तो युवराज सिंह रिटायरमेंट से वापस आ सकते हैं| पिछले साल जून में युवराज सिंह ने अपने रिटायरमेंट की अनाउंसमेंट की थी| ख़बरों की मानें तो, पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव पुनीत बाली के अनुरोध पर युवराज सिंह ने रिटायरमेंट के फैसले को वापस लेने का निर्णय किया है| PCA सचिव पुनीत बाली के अनुसार उन्होंने युवराज सिंह से पंजाब क्रिकेट के फायदे के लिए रिटायर ना होने की पेशकश की थी|

दुनियाभर में अन्य घरेलू फ्रेंचाइजी लीग में खेलना जारी रखना चाहते थे युवराज सिंह

युवराज ने कहा कि वह शुरुआत में बाली के अनुरोध को लेकर अनिश्चित थे| उन्होंने आगे कहा कि “मैं घरेलू क्रिकेट खेलना बंद कर चुका था, हालांकि मैं दुनियाभर में अन्य घरेलू फ्रेंचाइजी लीग में खेलना जारी रखना चाहता था, अगर मुझे बीसीसीआई से अनुमति मिल जाती|” युवराज सिंह ने आगे बताया कि वह बाली के अनुरोधों की अनदेखी नहीं कर पाएं और आगे आकर रिटायर ना होने का फैसला लिया|

क्रिकेट के लिए जूनून और जज़्बा बरकरार

युवराज की माताजी का कहना है कि अभी भी युवराज सिंह में क्रिकेट के लिए जूनून और जज़्बा बरकरार है| युवराज पंजाब के युवा खिलाडियों का नेट प्रैक्टिस पर मार्गदर्शन कर रहे हैं और इसी समय उनको खेल के प्रति प्रेरणा और प्यार महसूस हुआ |
बाली ने बताया कि वे जानते हैं कि युवराज सिंह ने BCCI प्रेसिडेंट सौरव गांगुली को क्रिकेट में वापसी के लिए पत्र लिखा है तथा उनके जवाब का इंतज़ार कर रहे हैं|

युवराज के रिटायरमेंट का फैसला उनका निजी मामला

बाली ने आगे कहा कि युवराज सिंह के पास पंजाब क्रिकेट और भारतीय क्रिकेट को देने के लिए अभी भी बहुत कुछ है और अगर युवराज सिंह की वापसी होती है तो वह बहुत खुश होंगे| वहीँ युवराज के पिता का कहना है की युवराज के रिटायरमेंट का फैसला उनका निजी मामला था और वापसी करना भी उनका निजी मामला है और वह एक पिता की भूमिका निभाने के अलावा वे उनके निजी मामले में हस्तक्षेप नहीं करेंगे, लेकिन योगराज सिंह जी भी नहीं चाहते हैं कि युवराज रिटायर हों|

2007 में T20 वर्ल्ड कप के दौरान में 6 बॉल पर 6 छक्के लगाने का रिकॉर्ड है युवराज सिंह का

आपको बता दें कि 2011 के वर्ल्ड कप के दौरान युवराज सिंह मैन ऑफ़ द सीरीज़ रहे थे और उनके परफॉरमेंस की काफी प्रशंसा हुई थी| बाएं हाथ के ये बल्लेबाज हरफनमौला क्रिकेट खेलने में माहिर हैं तथा इनके रिटायरमेंट के बाद भी आज तक भारतीय टीम इनकी जगह को अच्छी तरह से भरने वाला खिलाडी नहीं खोज पायी है| आपको बताते चलें की 2007 में T20 वर्ल्ड कप के दौरान स्टुअर्ट ब्रॉड के आखिरी ओवर में 6 बाल पर 6 छक्के लगाने के लिए भी युवराज सिंह मशहूर हैं|

युवराज सिंह ने आगे बताया कि उनकी तमन्ना पंजाब को चैंपियन बनाना है तथा वो ऐसा क्रिकेटर हरभजन सिंह के साथ खेलते हुए करना चाहते हैं|

यह भी पढ़ेंआईपीएल के नए शेड्यूल का ऐलान, मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स में पहली भिड़ंत

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी