Technology

Telegram is not safe – Telegram फंसा कॉन्ट्रोवर्सीज में, लड़कियों के आपत्तिजनक फोटोज और वीडियो किये जा रहे शेयर

नाबालिग लड़कियों और बच्चों से जुड़ी आपत्तिजनक सामग्री को शेयर करने का आरोप

Telegram is not safe इस समय कोई भी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पूर्ण रूप से सुरक्षित नहीं है. इस बीच व्हाट्सएप्प की प्रतिस्पर्धा कम्पनी Telegram इस समय कॉन्ट्रोवर्सीज में फंसा हुआ है.

ऐसा इसलिये क्योंकि एप्प पर लड़कियों की फोटोज़ के साथ छेड़छाड़ करके उसको न्यूड और शेयर किया जा रहा है. इस मामले में सबसे ज्यादा नाबालिग लड़कियों को निशाना बनाया जा रहा है और उनकी न्यूड फोटोज बनाकर उनको परेशान किया जा रहा है.

दस हजार से अधिक लड़कियों और महिलाओं की तस्वीरें शेयर की जा चुकी हैं

अब तक दस हजार से अधिक लड़कियों और महिलाओं की बिना सहमति वाली एक लाख से अधिक न्यूड तस्वीरें शेयर की जा चुकी हैं | सोशल मीडिया प्लेटफार्म से जुड़े यह मामले कोई नयी बात नहीं है

इससे पहले भी कई एप्स से जुड़े मामले सामने आये हैं| खासकर Telegram और Instagram जैसे एप्प तो इन मामलों के लिए काफी कुप्रसिद्ध है|

Telegram

Telegram is not safe

Telegram के Deepfake टूल के AI Bot से बनायीं जा रही न्यूड फोटो

आपको बता दें Telegram का एक डीपफेक टूल एक साल से एप्प काम कर रहा है जो यूजर्स को न्यूड तस्वीरें बनाने की परमिशन देता है. इस टूल के जरिए इस पर कपड़े पहने फोटो के भी कपड़े उतारे जा सकते हैं,

ये सब Telegram नेटवर्क द्वारा एक नए आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस बॉट (AI Bot) के इस्तेमाल द्वारा किया गया है. एक रिपोर्ट से पता चला है कि न्यूड फोटो या वीडियो बनाने के लिए केवल एक नॉर्मल इमेज चाहिए होती है और इसके बाद सॉफ्टवेयर ही सारे काम कर देता है. ऐसे में इसके चलते सेलिब्रिटीज के साथ-साथ आम जनता को भी परेशान किया जा रहा है.

Telegram

नाबालिग लड़कियों को बनाया जा रहा निशाना

इस मामले को लेकर विजुअल थ्रेट इंटेलिजेंस कंपनी सेंसिटी के CEO जियोर्जियो पैट्रिनी ने बताया कि Telegram का बॉट मात्र एक फोटो से ही एक पूरा न्यूड फोटो बना सकता है. इसका मतलब यह है कि इस तकनीक के जरिये मात्र एक प्रोफाइल फोटो से भी न्यूड फोटो बनाया जा सकता है.

इसी तकनीक से कुछ दिनों पहले सेलेब्रटीज़ की अश्लील वीडियो बनाने में उपयोग किया गया था लेकिन एक रिपोर्ट के अनुसार Telegram नेटवर्क पर सिर्फ सेलिब्रिटीज नहीं बल्कि आम जनता को भी सबसे ज्यादा टार्गेट किया जा रहा है क्योंकि जो फोटोज पहले शेयर किए गए हैं.

उसमें से ज्यादातर फोटोज नाबालिग लड़कियों और कुछ महिलाओं के हैं. कुछ सूत्रों के मुताबिक टेलीग्राम पर लड़कियों की करीब 1 लाख से अधिक फर्जी फोटोज मौजूद हैं और इसमें 70 प्रतिशत फोटोज सोशल मीडिया या फिर प्राइवेट सोर्स के जरिए हासिल की गई है.

Telegram

Telegram is not safe

बच्चों से जुड़ी आपत्तिजनक सामग्री को शेयर करने के आरोप में किया गया था कुछ लोगों को गिरफ्तार

बता दें टेलीग्राम से जुड़े ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं| टेलीग्राम पर अश्लील वीडियोस और फोटोज वाले कई पेज और चैनल्स भरे पड़े हैं, जो टूल्स की मदद से अश्लील वीडियो या फोटोज बनाते हैं और शेयर करते हैं| इसी तरह से हाल ही में दिल्ली के केंद्रीय जाँच ब्यूरो ने कुछ व्यक्तियों को बच्चों से जुड़ी अपमानजनक और आपत्तिजनक सामग्री को शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार किया|

Telegram

अश्लील वीडियो और फोटोज को बिक्री कर लाखों की कमाई की

आरोप है कि आरोपियों ने टेलीग्राम पर कई एकाउंट्स बनाए थे, जिनके जरिये करीब 20 चैनल और ग्रुप बनायें, जिस पर उन्होंने बच्चों से जुडी अश्लील वीडियो और फोटोज को बिक्री के लिए विज्ञापन पर डाला था| आरोपियों ने गूगल-पे और पेटीएम के जरिए लोगों से रुपये लिए लाखों की कमाई की|

ऐसे में यह साफ़ है कि इंटरनेट जितना लाभदायक है उससे कहीं ज्यादा नुकसानदेह भी है, इसलिए हमें सोच-समझकर और सतर्कता से ही इसका उपयोग किसी चीज के लिए करना चाहिए.

Telegram

Related Articles

Back to top button
English English हिन्दी हिन्दी